कुदुरमाल

कुदुरमाल एक छोटा गांव है जो कोरबा जिला मुख्यालय से करीब 15 किमी दूर स्थित है। संत कबीर के शिष्य में से एक का समाधि यहाँ है, जो लगभग 500 वर्ष पुराना है इसलिए यह ऐतिहासिक महत्व रखता है|

इसके अलावा, यहां एक मंदिर है, जिसे संकटमोचन हनुमान मंदिर कहते हैं|जो मंदिर के केंद्र में हनुमान की एक प्रमुख संतमूर्ति स्थापित की गई थी जहा महात्मा केवलाल पटेल ने मंदिर बनाया था मंदिर के चारों ओर में काली, दुर्गा, राम, सीता, कबीर आदि के अन्य छोटे मंदिर हैं। यहाँ हर साल (जनवरी और फरवरी) में माघ पूर्णिमा पर एक मेला होता है।

मंदिर के पास एक चट्टान के नीचे एक गुफा है, जो कि गोलियों के चट्टानों से भी आकर्षित होता है|

  • कुदुरमाल मंदिर शीर्ष दृश्य
  • कुदुरमाल मंदिर
  • कुदुरमाल मंदिर सामने से
  • कुदुरमाल मंदिर सामने से

कैसे पहुंचें:

बाय एयर

स्वामी विवेकानन्द अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा रायपुर से 200 किमी. |

ट्रेन द्वारा

कोरबा रेलवे स्टेशन से 15 किमी की दुरी पर स्थित है |

सड़क के द्वारा

कोरबा बस स्टैंड से 15 किमी की दुरी पर स्थित है |